राजस्थान का परिचय – स्थिति एवं विस्तार

अगर आप राजस्थान से संबंधित किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो यह पोस्ट आपके लिए है इसमें जब भी आप राजस्थान का भूगोल पढ़ेंगे तो आपको इसमें सबसे पहले राजस्थान का परिचय इसके बारे पढ़ते हैं हम आपको राजस्थान परिचय ( Introduction to Rajasthan ) से संबंधित कंप्लीट शॉर्ट नोट्स इस पोस्ट में उपलब्ध करवा रहेहैं 

राजस्थान सामान्य ज्ञान से संबंधित हम आपके लिए टॉपिक का निशान नोट्स निशुल्क इसी वेबसाइट पर उपलब्ध करवाएंगे

राजस्थान का परिचय – स्थिति एवं विस्तार

भारत के उत्तर पश्चिम में स्थित क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य राजस्थान है। इसका कुल क्षेत्रफल 3,42,239 वर्ग किलोमीटर है (1,32,139 वर्ग मील) जो भारत के कुल क्षेत्रफल का 10.41% या 1/10वाँ भाग है।

– (1 नवम्बर, 2000 को मध्य प्रदेश से छत्तीसगढ़ राज्य के अलग होने से राजस्थान क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य बना।)

– क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत के पाँच बड़े राज्य – राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और गुजरात हैं।

– राजस्थान क्षेत्रफल की दृष्टि से श्रीलंका से पाँच गुना, चेकोस्लोवाकिया से तीन गुना, इजरायल से सत्रह गुना व ब्रिटेन से दुगुना है।

– राजस्थान का क्षेत्रफल लगभग जापान, कांगो रिपब्लिक, फिनलैंड और जर्मनी के क्षेत्रफल के भी बराबर है।

क्षेत्रफल की दृष्टि से बड़े जिलेक्षेत्रफल की दृष्टि से छोटे जिले
1. जैसलमेर (38,401 वर्ग किमी.)1. धौलपुर (3,034 वर्ग किमी.)
2. बीकानेर (30,247 वर्ग किमी.)2.दौसा (3,232 वर्ग किमी.)
3. बाड़मेर (28,387 वर्ग किमी.)3. डूँगरपुर (3,770 वर्ग किमी.)
4.जोधपुर (22,850 वर्ग किमी.)4. राजसमंद (3,860 वर्ग किमी.)

तथ्य :-

– राजस्थान, जैसलमेर से 8.9 गुना बड़ा है।

– जैसलमेर, राजस्थान का 11.22 प्रतिशत भाग है।

– राजस्थान, धौलपुर से 112.8 गुना बड़ा है।

– धौलपुर, राजस्थान का 0.89 प्रतिशत हिस्सा है।

– जैसलमेर, धौलपुर से 12.66 गुना बड़ा है।

– धौलपुर, जैसलमेर का 7.9 प्रतिशत हिस्सा है।

– विश्व के क्षेत्रफल में राजस्थान का योगदान 0.25 प्रतिशत है।

अगर आप हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Join TelegramClick Here
Join WhatsappClick Here

अंतिम शब्द 

हम आपको ऐसे ही नोटिस टॉपिक अनुसार निशुल्क Rpsc Notes की इस वेबसाइट पर हिंदी भाषा में उपलब्ध करवाएंगे यकीन मानिए अगर आप अपनी तैयारी कहां से करते हैं तो आपको अपने किसी बुक की आवश्यकता नहीं होगी

3 thoughts on “राजस्थान का परिचय – स्थिति एवं विस्तार”

Leave a Comment

error: Content is protected !!